• Fri. Nov 27th, 2020

दिसंबर से कड़ाके की सर्दी पड़ने के आसार,अगले दो दिन बढ़ेगा पारा

पटना: बिहार के कई जिलों में बादल के छाए रहने से पिछले दो दिनों में न्यूनतम पारे में कोई विशेष गिरावट दर्ज नहीं की गई। हालांकि मौसमविदों के अनुसार अगले 24 से 48 घंटे में तापमान एक से दो डिग्री नीचे आ सकता है। सूबे में उत्तर पश्चिमी दिशा से आ रही ठंडी हवा का आना जारी है लेकिन बादलों के होने से रात के तापमान में इसकी खास असर नहीं दिख रहा है। मौसमविदों न यह भी कहा गया है कि नवंबर के अंत तक कड़ाके की ठंड के आसार नहीं हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र पटना का आकलन है कि एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। यह पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी की वजह से बनता है। बर्फबारी के एक से दो दिनों बाद इसका असर मैदानी क्षेत्रों पर पड़ता है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले चार से पांच दिनों में इस मौसमी सिस्टम का असर बिहार के मौसम पर भी पड़ेगा। अगले चार पांच दिनों में जैसे यह पश्चिमी विक्षोभ बिहार से गुजर रही होगी, उसके बाद ठंडी हवा फिर से बिहार में प्रवेश करेंगी, जिसके बाद पारे में तेजी से गिरावट दर्ज की जाएगी।

पटना का अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री नीचे 24 डिग्री सेल्सियस, गया का 26.6 डिग्री सेल्सियस जबकि भागलपुर और पूर्णिया का 27.1 डिग्री सेल्सियस रहा। बिहार से उत्तर पूर्व से मध्य प्रदेश तक एक ट्रफ लाइन गुजर रही थी, जिसके कारण शुक्रवार को कई स्थानों पर बादल छाये रहे। गौरतलब है कि ठंड का विशेष असर न्यूनतम तापमान के गिरावट से होता है और बादलों के छाने की स्थिति में न्यूनतम तापमान सामान्य से ऊपर चला गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

🦠🧬 COVID-19 महामारी, लापरवाही पड़सकता है भारी।

प्रिय पाठक , शर्दी में कोरोना का बढ़ने का आषा किया जा रहा है ,इसलिए ख़ामोश दुनिया टीम आप सभी पाठक से आग्रह करता है की घर से बहार निकलते समय मास्क जरूर पहने। धन्यवाद "जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।"