• Fri. Nov 27th, 2020

कैमुर मीडिया ने सकारात्मक खबरों के जरिए बिहार को दिया है बड़ा संदेश: कैमूर डीएम

ByG P Soni

Nov 17, 2020

कैमुर कलेक्ट्रेट में 16 नवंबर को प्रेस दिवस के अवसर पर Role Of Media during the covid-19 pendem and its impact on media विषय पर एक परिचर्चा आयोजित हुई जिसमें कैमूर डीएम डॉ नवल किशोर चौधरी,कैमुर एसपी दिलनवाज अहमद, डीपीआरओ, एडीएम सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे, वहीं जिले के तमाम छोटे-बड़े मीडिया चैनलों के सभी पत्रकार भी मौजूद रहे।

वही कैमुर एसपी दिलनवाज अहमद ने कहा कि 3 मई को कोविड-19 की वजह से लगे लॉकडाउन के कारण प्रेस दिवस नहीं मनाया जा सका इस वजह से 16 नवंबर को इस आयोजन को किया जा रहा है, साथ ही उन्होंने कैमूर जिले के सभी पत्रकारों का धन्यवाद देते हुए कहा कि कोविड-19 काल में जिस तरह से जिले के सभी मीडियाकर्मियों ने मिलकर कोरोनाकाल में कंधे से कंधा मिलाकर काम किया है एक दूसरे का सहयोग किया है

उसके लिए जिला प्रशासन दिल से आभारी है हमारे जिले में अन्य जिलों के अपेक्षा कोविड-19 के काफी कम एक्टिव केस देखने को मिले। मौतों का आंकड़ा भी बहुत कम रहा तो इसका श्रेय जिला प्रशासन के सार्थक प्रयास के साथ-साथ जिले के पत्रकारों द्वारा समय-समय पर जागरूकता संदेश और सही और सटीक जानकारी का आम लोगों तक पहुंचाने में बहुत बड़ा योगदान रहा है

जिसकी वजह से कोविड-19 का खौफ लोगों में काफी हद तक कम हुआ लोग सतर्क हुए सजग हुए और इस महामारी से लड़ने में प्रशासन प्रेस का भरपूर सहयोग किया सबसे बड़ी बात तो यह रही कि प्रशासन को कोविड-19 और लॉक डाउन का पालन कराने के लिए कहीं कहीं सख्त कदम भी उठाने पड़ते थे तो जिले के पत्रकारों ने इसे सकारात्मक रूप में दिखाया जिले वासियों के जान की क्षती को बचाने के लिए ही ऐसा किया जा रहा है

इसीलिए जिला प्रशासन का सहयोग करें और जिले वासियों के सहयोग के कारण भी कैमूर प्रशासन अपने मकसद में कामयाब हो पाया वही डीएम डॉ नवल किशोर चौधरी ने अपने वक्तव्य में कहा कि वास्तव में ही आज का दिन काफी गौरवान्वित करने वाला दिन है और आज के दिन का महत्व यह है कि प्रेस की शक्ति है

उसको पहचाने कहीं से कभी भी प्रेस में कोई बातें छपती है तो मैं उसे संज्ञान में लेकर दूर करने का प्रयास करता हूं क्योंकि मीडिया हमारी शिकायत नहीं कर रहा मीडिया हमारी आंखें खोल रहा है मीडिया की पहुंच दूर-दूर तक है आप एक फाइनल इंस्ट्रक्शन के रूप में काम कर रहे हैं हम अपने एक पहलू को देखते हैं लेकिन मीडिया हर पहलु को गंभीरता से देखता है और हो रही कमियों को दूर कराने का प्रयास करता है कैमूर की मीडिया ने कोविड-19 काल में पूरे बिहार को एक अच्छा संदेश दिया है कि महामारी के दौरान सकारात्मक खबरें भी दिखाई जा सकती है लोगों में महामारी का खौफ कम किया जा सकता है।

कभी-कभी जिला प्रशासन को सरकार के कोई आदेश को पालन कराने हेतु शख्ती भी बरतनी पड़ती है तो मीडिया जिला प्रशासन के खिलाफ जो नाराजगी होती है उसे दूर करने के लिए सकारात्मक खबरें छाप लोगों में जागरूकता फैलाता है क्योंकी यही उनके लिए फायदेमंद है जिसकी वजह से लोगों में जागरूकता बढ़ी और हमने कोविड-19 काल में संक्रमण को बहुत कम स्तर तक फैलने दिया।

प्रशासन के साथ मिलकर मीडिया ने कोरोना काल में जितना बेहतरीन काम किया है आज जिला प्रशासन आपको एक अच्छे पार्टनर के रूप में देखता है कोरोना काल के दौरान सरकार के हर आदेश को आम लोगों को बताना, जागरूक करना उनके अंदर के डर को दूर करना यह सब आप के सतत प्रयास के ही कारण संभव हो पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

🦠🧬 COVID-19 महामारी, लापरवाही पड़सकता है भारी।

प्रिय पाठक , शर्दी में कोरोना का बढ़ने का आषा किया जा रहा है ,इसलिए ख़ामोश दुनिया टीम आप सभी पाठक से आग्रह करता है की घर से बहार निकलते समय मास्क जरूर पहने। धन्यवाद "जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं।"