• Fri. Jan 28th, 2022

कृषि कार्य से जुडी किसी भी प्रकार की कालाबाजारी पर बरती जायेगी सख्ती : कैमुर डीएम

सोमवार को भभुआ कलेक्ट्रेट के सभागार में हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैमूर डीएम डॉ नवल किशोर चौधरी ने कहा की 2020 का कृषि मानसुन शुरू है जिसके कारण किसान काफी उत्साहित हैं सरकार के द्वारा जो बीज निगम है वहां से बीज वितरण कि सुविधाजनक प्राप्ति के लिए जिला प्रशासन प्रयासरत है।

खरीफ 2020 के सभी प्रकार के बीज केवल सरकारी कंपनी BRBN द्वारा प्राप्त है।इसके स्टॉक के बारे में अवगत कराते हुए कैमुर डीएम ने कहा कि यदि किसी को बीज की आवश्यकता है तो वह मार्केट साइट पर से जाकर अपना पहचान पत्र जमीन का कागज अपलोड करेंगे और उस के माध्यम से जब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हो जाएगा तो आसानी से बीज प्राप्त कर पाएंगे हमारे पास जो बीज की वितरण की जो निर्धारित मात्रा है धान वितरण का प्रमाणित मूल्य 3900 रुपये प्रति क्विंटल है और आधार 4100 रुपये प्रति क्विंटल है जिसमें 50% अनुदान पर बीज दिया जा रहा है। धान का प्रभेद है सबौर श्री,स्वर्णा–सब–1, RM-1,MTU-7029,राजेंद्र भगवती आदि।

धान अाच्छादन की स्थिति हमारे यहां काफी अच्छी है धान का उर्वरक भी अच्छा खासा है। धान अाच्छादन का लक्ष्य हेक्टेयर में 1,08,000 है और बिचड़ा अाच्छादन का लक्ष्य हेक्टेयर में 10,800 है, बिचड़ा अच्छादन की उपलब्धि की बात करें तो 8.42 5 हेक्टेयर में यानी कुल 78% है वहीं रोपनी की स्थिति सुन्य है ।

क्योंकि जुलाई के द्वितीय सप्ताह के आरंभ से रोपनी का कार्य आरंभ होगा।वहीं अरहर की बात करें तो अरहर बीज वितरण का लक्ष्य प्रति क्विंटल 118.02 रखा गया है जबकि प्राप्त बीज की मात्रा प्रति क्विंटल 58.68 है वही वितरित बीज की मात्रा प्रति क्विंटल 48.92 है और जो भी दुकानें हैं उन्हें हमारे यहां धान का उर्वरक भी अच्छा खासा है कहीं किसी के बहकावे में नहीं आना है और यदि किसी बीज की दुकान बिना प्रखंड को सूचित किया बंद रहती है तो इसे कालाबाजारी के अंतर्गत ही माना जाएगा और उन पर कार्रवाई होगी।

 74 कुल दृश्य,  1 आज के दृश्य

Leave a Reply

Your email address will not be published.

SORRY SIR .... WE ARE WITH YOU BUT DONOT COPY....