• Sun. Apr 11th, 2021

आयुष चिकित्सकों ने एक स्वर में सरकार के निर्णय को ठहराया सही

ByG P Soni

Dec 14, 2020

रविवार को कैमूर जिले के सभी आयुष आयुर्वेद चिकित्सक संघ द्वारा केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित गजट जिसमें आयुर्वेद सर्जन को सर्जरी का अधिकार दिया गया है के समर्थन में धन्यवाद सभा का आयोजन मोहनिया के पलक हॉस्पिटल में किया गया। इसमें नीमा विहार आमसा, अशब, आदि संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। संगठन के सदस्यों द्वारा आईएमए के विरोध को अनुचित एवं संविधान विरोधी बताया गया।

बैठक में डाक्टरों ने कहा की प्रिंट मीडिया एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से आयुष डॉक्टरों को अयोग्य ठहराना एलोपैथिक चिकित्सा के संविधान के प्रति अनुशासनहीनता का परिचायक है आयुष चिकित्सक भी सरकार के द्वारा गठित संवैधानिक संस्था के द्वारा अधिकृत होते हैं ।

आयुष चिकित्सकों को मिक्सोपैथी कह कर अपमानित करने से सभी चिकित्सक आक्रोशित हैं मिक्सोपैथी के जनक एलोपैथिक चिकित्सक ही हैं इनके द्वारा अनगिनत आयुर्वेदिक दवा को प्रिसक्राइब किया जाता है जैसे नीरी, लिव-52 Thromboblis इत्यादि।एलोपैथ चिकित्सकों को यह ज्ञात होना चाहिए कि इनके पूर्वज सर्जरी आयुर्वेद के आचार्य सुश्रुत के द्वारा वर्णित सर्जरी से सीखकर ही आज सर्जन बने हुए हैं,

अतः इन्हें यह बताना ही होगा कि सर्जरी के जनक कौन है तब जाकर समाज में इसका पर्दाफाश हो पाएगा आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा बताया गया कि सर्जरी के जनक आचार्य सुश्रुत हैं सुश्रुत संहिता में वर्णित सर्जरी में उपयोगी सभी उपकरण का वैज्ञानिक संवर्धन के बाद उनका उपयोग किया जाता है अगर इन्हें आयुर्वेदिक चिकित्सा से ईतनी घृणा है तो इन्हें सुश्रुत संगीता में वर्णित सभी उपकरणों का उपयोग बंद कर देना चाहिए कुछ वर्ष पहले तक इनका अपना नामकरण तक नहीं था

इनकी पैथी अलग-अलग देशों में अलग-अलग नाम से जानी जाती थी 1820 में होम्योपैथिक के जनक डॉ हैनिमैन द्वारा इनका नामकरण किया गया देश के जाने-माने प्रसिद्ध सर्जन डॉक्टर मनोरंजन साहू डॉक्टर देशपांडे बीएचयू आयुर्वेद के प्रख्यात सर्जन रहे हैं केंद्र सरकार के इस निर्णय से जहां आयुर्वेदिक चिकित्सा जगत उत्साहित है वही समाज के गरीब एवं गांव में रहने वाले गरिब वंचित लोगों को भी ईस निर्णय से अमुल लाभ मिलेगा।ईस निर्णय के लिए आयुर्वेद चिकित्सक एवं नीति आयोग के आभारीदेर से ही सही किंतु उचित निर्णय लिया गया।

सभा में नीमा के अध्यक्ष डॉ राजेश सिंह एवं उपाध्यक्ष डॉ जेपी कुमार के अलावा डॉक्टर ए के त्रिपाठी मोहम्मद असद डॉक्टर खुर्शीद आलम डॉक्टर कल्पना डॉक्टर बबीता बख्शी सहित कई डॉक्टर मौजूद रहे।

 2 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *