• Wed. Aug 4th, 2021

Ram Mandir Movement को बदनाम करने वालों को CM योगी का जवाब, कह दी ये बात

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने रविवार को दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास होना, साबित करता है कि मंदिर आंदोलन सकारात्मक था और नकारात्मक सोच रखने वाले लोगों ने ही इस मुहिम को बदनाम किया.

‘राम ‘काल्पनिक’ से ‘सबके’ हुए’-ये है परिवर्तन

सीएम योगी ने यहां 500 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बनने वाली 37 परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के बाद उपस्थित जनसमूह से कहा, ‘पिछली सरकारें प्रत्येक विवाद को लटकाना चाहती थीं. जो लोग कहते थे कि राम तो काल्पनिक हैं, अब वो कहने लगे हैं कि राम तो सबके हैं. यह है परिवर्तन.’ उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, ‘जो राम भक्तों पर गोली चलाते थे और कहते थे कि राम का तो अस्तित्व है ही नहीं, आज उनको भी राम भक्तों की ताकत का एहसास हो गया है. अब वे कह रहे हैं कि राम तो सबके हैं. कारसेवा के समय हम यही तो कहते थे कि राम तो सबके हैं, इसलिए राम जन्मभूमि के आंदोलन का विरोध ना करे. अंतत: राम भक्तों ने जो सेवा की, वे विजयी हुए.’

‘भगवान करे यह सद्बुद्धि हमेशा बनी रहे’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘5 अगस्त 2020 को अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास प्रधानमंत्री मोदी के हाथों होना, इस बात को साबित करता है कि राम जन्मभूमि के लिए चलाया गया आंदोलन एक सकारात्मक आंदोलन था और वह कहीं भी नकारात्मक नहीं था. उस आंदोलन का विरोध करने वाले लोग नकारात्मक सोचते थे और इसलिए उसे बदनाम करते थे. जब वे हर क्षेत्र में नाकाम हो चुके हैं, तो कह रहे हैं कि राम तो सबके हैं. भगवान करे यह सद्बुद्धि हमेशा बनी रहे.’

‘UP में डर फैलाने वाले खौफ में जी रहे हैं’

इसी क्रम में बोलते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा और कहा, ‘इससे पहले, निवेशक उत्तर प्रदेश में जमीन खरीदने में हिचकते थे कि कहीं सपा के गुंडे उस पर कब्जा न कर लें. यही काम बसपा के समय में भी हुए, मगर अब ऐसा संभव नहीं है. क्योंकि जो लोग पहले डर फैलाते थे, वे खुद खौफ में जी रहे हैं.’

 62 कुल दृश्य,  2 आज के दृश्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SORRY SIR .... WE ARE WITH YOU BUT DONOT COPY....