• Fri. Oct 22nd, 2021

‘अयोध्या में भूमि पूजन के दौरान टीवी डिबेट में विवादित पक्षकारों को नहीं बुलाएंगे’, योगी सरकार ने न्यूज चैनलों से मांगा लिखित आश्वासन

राम मंदिर अयोध्या की अर्थव्यवस्था को कैसे बदल सकता है

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन का कवरेज करने वाले टीवी चैनलों से विवादित पक्ष को टीवी डिबेट में नहीं बुलाने का लिखित आश्वासन मांगा है। अयोध्या के जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि जो भी समाचार चैनल अयोध्या में इस कार्यक्रम का कवरेज करना चाहते हैं उन्हें आवश्यक रूप से अंडरटेकिंग देनी होगी कि वो इस मुद्दे पर चैनल पर होने वाली बहस में किसी भी विवादित पक्षकार को न तो बुलाएंगे और न ही किसी भी धर्म, समुदाय या संप्रदाय या किसी विशिष्ट व्यक्ति पर कोई टिप्पणी करेंगे।

जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए प्रारूप के मुताबिक अंडरटेकिंग में कहा गया है कि चैनल की वजह से किसी भी तरह के कानून-व्यवस्था में गड़बड़ी होने पर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया संस्थान ही जिम्मेदार होंगे। अंडरटेकिंग में संस्थानों के हेड से लिखित आश्वासन मांगा गया है। इसमें कहा गया है, “कानून व्यवस्था को बनाए रखा जाएगा तथा अगर किसी प्रकार से कोई गड़बड़ी होगी तो इसकी जिम्मेदारी मेरी व्यक्तिगत रूप से होगी।”

समाचार चैनलों को भेजे गए प्रारूप में नौ मदों के तहत अनुमति लेने की आवश्यकता बताई गई है। इसके तहत एक कार्यक्रम के लिए एक निजी इनडोर स्थान की पहचान भी शामिल है। इसके अलावा कहा गया है कि इस उद्देश्य के लिए कोई सार्वजनिक स्थान का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

अंडरटेकिंग में इस बात की गारंटी देने को कहा गया है कि डिबेट में किसी विवादित पक्षकार को नहीं बुलाया जाएगा। इसके अलावा डिबेट के दौरान किसी भी धर्म, संप्रदाय, पंथ या व्यक्ति विशेष पर कोई टिप्पणी नहीं की जाएगी। चैनलों को सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करने को कहा गया है। निर्देश में कहा गया है कि रिकॉर्डिंग के समय पैनलिस्ट के अलावा वहां भीड़ नहीं होनी चाहिए। जो भी लोग वहां हो, सभी को मास्क पहने होना चाहिए।

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उप निदेशक सूचना मुरलीधर सिंह ने कहा, “मीडिया को इस इवेंट को कवर करने में कोई समस्या नहीं होगी। इसके लिए सभी व्यवस्थाएं की जा रही हैं।” उन्होंने कहा, “वहां एक अलग मीडिया सेंटर होगा और लाइव टेलीकास्ट होगा। कानून और व्यवस्था बनाए रखने और कोविड की वजह से समाचार चैनलों को पूर्व अनुमति लेनी होगी और यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई सार्वजनिक सभा न हो, कोई विवादास्पद बयान नहीं हो और उचित प्रोटोकॉल बनाए रखा गया है।” बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन कार्यक्रम में शिरकत करेंगे और इसका शिलान्यास करेंगे।

 

 51 कुल दृश्य,  1 आज के दृश्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SORRY SIR .... WE ARE WITH YOU BUT DONOT COPY....